38.1 C
Bhubaneswar
April 20, 2024
Mantra

Jai Raghunandan Jai Siyaram Man Se Jap Le Tu Sitaram | जय रघुनंदन जय सियाराम

Credit the Video : Sona Rupa YouTube Channel

Jai Raghunandan Jai Siyaram Man Se Jap Le Tu Sitaram | जय रघुनंदन जय सियाराम: दोस्तों नमस्कार, आज हम आप लोगों को इस पोस्ट के माध्यम से जय रघुनन्दन जय सियाराम मन से जप ले तु सीताराम मंत्र के बारे में बताएँगे। तो आइये सुमिरन करते हैं जय रघुनन्दन जय सियाराम मन से जप ले तु सीताराम:

जय रघुनन्दन जय सियाराम मन से जप ले तु सीताराम

जय रघुनंदन जय सियाराम,
मन से जप ले तु सीताराम ।

तु ही दयालु तु ही कृपालु,
सबके स्वामी हे भगवान,
हो तु ही दयालु तु ही कृपालु,
सबके स्वामी हे भगवान,
तेरी महिमा सबसे न्यारी,
तु ही पालक हे मोरे राम ।

जय रघुनंदन जय सियाराम,
मन से जप ले तु सीताराम ।

तु ही ईश्वर तु जगदीश्वर,
अंतर्मन में तेरा ध्यान,
हो तु ही ईश्वर तु जगदीश्वर,
अंतर्मन में तेरा ध्यान,
जग के स्वामी अंतर्यामी,
तु ही उद्धारक हे मोरे राम ।

जय रघुनंदन जय सियाराम,
मन से जप ले तु सीताराम ।

जय जय राम राम राम
सीताराम राम राम राम

Jai Raghunandan Jai Siyaram Man Se Jap Le Tu Sitaram

Jai Raghunandan Jai Siyaram,
Man Se Jap Le Tu Sitaram ।

Tu Hi Dayalu Tu Hi Kripalu,
Sabke Swami He Bhagwan,
Ho Tu Hi Dayalu Tu Hi Kripalu,
Sabke Swami He Bhagwan,
Teri Mahima Sabse Nyari,
Tu Hi Palak He More Ram ।

Jai Raghunandan Jai Siyaram,
Man Se Jap Le Tu Sitaram ।

Tu Hi Ishwar Tu Jagdishwar,
Antarman Mein Tera Dhyan,
Ho Tu Hi Ishwar Tu Jagdishwar,
Antarman Mein Tera Dhyan,
Jag Ke Swami Antaryami,
Tu Hi Uddharak He More Ram ।

Jai Raghunandan Jai Siyaram,
Man Se Jap Le Tu Sitaram ।

Jai Jai Ram Ram Ram
Sita Ram Ram Ram

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। जय रघुनन्दन जय सियाराम मन से जप ले तु सीताराम मंत्र के उच्चारण, किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। जय रघुनन्दन जय सियाराम मन से जप ले तु सीताराम मंत्र का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Om Damodaraya Vidmahe
Om Sarve Bhavantu Sukhinah
Rog Nashak Bishnu Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya
Black Tara Mantra
White Tara Mantra
Yellow Tara Mantra
Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Blue Tara Mantra

Related posts

Raja Ram Ram Ram Sankirtan | राजा राम राम राम संकीर्तन | सीता राम राम राम अखंड रामधुन | Akhand Ramdhun

bbkbbsr24

White Tara Mantra | Success in Education

bbkbbsr24

Twameva Mata Cha Pita Twameva | त्वमेव माता च पिता त्वमेव | ତ୍ବମେବ ମାତା ଚ ପିତା ତ୍ବମେବ

bbkbbsr24