31.1 C
Bhubaneswar
May 28, 2024
Stotram

Jai Ram Rama Ramanam Samanam | जय राम रमा रमनं समनं

Credit the Video : Madhvi Madhukar YouTube Channel

Jai Ram Rama Ramanam Samanam | जय राम रमा रमनं समनं: दोस्तों नमस्कार, आज हम आप लोगों को इस पोस्ट के माध्यम से जय राम रमा रमनं समनं मंत्र के बारे में बताएँगे। यह स्तुति भगवान शिव द्वारा प्रभु राम के अयोध्या वापस आपने के उपलक्ष्य में गाई गई है। जिसके अंतर्गत सभी ऋषिगण, गुरु, कुटुम्बी एवं अयोध्या वासी कैसे अधीर हो कर अपने प्रभु रूप राजा राम की प्रतीक्षा कर रहे हैं। तथा श्री राम के आगमन पर कैसे सभी आनन्दित हैं, श्रीराम अपने महल को चलते है, आकाश से फूलों की वृष्टि होरही है। सब का वर्णन है इस स्तुति में। तो आइये सुमिरन करते हैं जय राम रमा रमनं समनं :

Jai Ram Rama Ramanam Samanam

Jay Raam Ramaa Ramanam Shamanam

॥ Chhand: ॥

Jay Raam Ramaa Ramanam Shamanam ।
Bhav Taap Bhayaakul Paahi Janam ॥
Aavadhes Sures Rames Vibho ।
Sharanaagat Maangat Paahi Prabho ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Dasasiis Vinaasan Biis Bhujaa ।
Krit Duuri Mahaa Mahi Bhuuri Rujaa ॥
Rajanichar Brind Patang Rahe ।
Sar Paavak Tej Prachand Dahe ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Mahi Mandal Mandan Chaarutaram ।
Dhrit Saayak Chaap Nishang Varam ॥
Mad Moh Mahaa Mamata Rajani ।
Tam Punj Divaakar Tej Anii ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Manajaat Kiraat Nipaat Kiye ।
Mrig Log Kubhog Saren Hiye ॥
Hati Naath Anaathani Paahi Hare ।
Vishhayaa Ban Paanvar Bhuuli Pare ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Bahu Rog Biyoginhi Log Haye ।
Bhavadanghri Niraadar Ke Phal E ॥
Bhav Sindhu Agaadh Pare Nar Te ।
Pad Pankaj Prem N Je Karate ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Ati Diin Maliin Duhkhii Nitahiin ।
Jinh Ken Pad Pankaj Priit Nahiin ॥
Avalamb Bhavant Kathaa Jinh Ken ।
Priya Sant Anant Sadaa Tinh Ken ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Nahin Raag N Lobh N Maan Madaa ।
Tinh Ken Sam Baibhav Vaa Bipadaa ॥
Ehi Te Tav Sevak Hot Mudaa ।
Muni Tyaagat Jog Bharos Sadaa ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Kari Prem Nirantar Nem Liyen ।
Pad Pankaj Sevat Shuddh Hiyen ॥
Sam Maani Niraadar Aadarahii ।
Sab Sant Sukhii Bicharanti Mahii ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Muni Maanas Pankaj Bhring Bhaje ।
Raghuviir Mahaa Ranadhiir Aje ॥
Tav Naam Japaami Namaami Harii ।
Bhav Rog Mahaamad Maan Arii ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

Gun Siil Ripaa Paramaayatanam ।
Pranamaami Nirantar Shriiramanam ॥
Raghunand Nikanday Dvandv Ghanam ।
Mahipaal Bilokay Diin Janam ॥

Raja Ram, Raja Ram,
Sita Ram, Sita Ram ॥

॥ Doha:॥
Baar Baar Bar Magoun Harshi Dehu Shrirang ।
Pad Saroj Anpayani Bhagti Sada Satsang ॥
Barani Umapati Ram Gun Harshi Gaye Kailash ।
Tab Prabhu Kapinh Dibaye Saba Bidhi Sukhprad Bas ॥

जय राम रमा रमनं समनं

॥ छन्द: ॥ 
जय राम रमा रमनं समनं ।
भव ताप भयाकुल पाहि जनम ॥
अवधेस सुरेस रमेस बिभो ।
सरनागत मागत पाहि प्रभो ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

दससीस बिनासन बीस भुजा ।
कृत दूरी महा महि भूरी रुजा ॥
रजनीचर बृंद पतंग रहे ।
सर पावक तेज प्रचंड दहे ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

महि मंडल मंडन चारुतरं ।
धृत सायक चाप निषंग बरं ॥
मद मोह महा ममता रजनी ।
तम पुंज दिवाकर तेज अनी ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

मनजात किरात निपात किए ।
मृग लोग कुभोग सरेन हिए ॥
हति नाथ अनाथनि पाहि हरे ।
बिषया बन पावँर भूली परे ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

बहु रोग बियोगन्हि लोग हए ।
भवदंघ्री निरादर के फल ए ॥
भव सिन्धु अगाध परे नर ते ।
पद पंकज प्रेम न जे करते॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

अति दीन मलीन दुखी नितहीं ।
जिन्ह के पद पंकज प्रीती नहीं ॥
अवलंब भवंत कथा जिन्ह के ।
प्रिय संत अनंत सदा तिन्ह के ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

नहीं राग न लोभ न मान मदा ।
तिन्ह के सम बैभव वा बिपदा ॥
एहि ते तव सेवक होत मुदा ।
मुनि त्यागत जोग भरोस सदा ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

करि प्रेम निरंतर नेम लिएँ ।
पड़ पंकज सेवत सुद्ध हिएँ ॥
सम मानि निरादर आदरही ।
सब संत सुखी बिचरंति मही ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

मुनि मानस पंकज भृंग भजे ।
रघुबीर महा रंधीर अजे ॥
तव नाम जपामि नमामि हरी ।
भव रोग महागद मान अरी ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

गुण सील कृपा परमायतनं ।
प्रणमामि निरंतर श्रीरमनं ॥
रघुनंद निकंदय द्वंद्वघनं ।
महिपाल बिलोकय दीन जनं ॥

राजा राम, राजा राम,
सीता राम, सीता राम ॥

॥ दोहा: ॥
बार बार बर मागऊँ हरषी देहु श्रीरंग।
पद सरोज अनपायनी भगति सदा सतसंग॥
बरनि उमापति राम गुन हरषि गए कैलास।
तब प्रभु कपिन्ह दिवाए सब बिधि सुखप्रद बास

Credit the Video : LM WORLD YouTube Channel

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। जय राम रमा रमनं समनं  मंत्र के उच्चारण, किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। जय राम रमा रमनं समनं  मंत्र का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Om Damodaraya Vidmahe
Om Sarve Bhavantu Sukhinah
Rog Nashak Bishnu Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya
Black Tara Mantra
White Tara Mantra
Yellow Tara Mantra
Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Blue Tara Mantra

Related posts

Maruti Stotra

bbkbbsr24

Govind Damodar Stotram | गोविन्द दामोदर स्तोत्र

bbkbbsr24

Ganga Stotram Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24