27.8 C
Bhubaneswar
April 17, 2024
Bhakti

Sita Kalyana Vaibhogame | सीता कल्याण वैभोगमे

Credit the Video: Epictize Media YouTube Channel

Sita Kalyana Vaibhogame | सीता कल्याण वैभोगमे: भारतीय परंपरा और संस्कृति में सीता कल्याण वैभोगमे (Sita Kalyana Vaibhogame) इसमें सीता के विवाह के मधुर विवरण, उसकी सुंदरता, प्रेम और परिवार के बीच आपसी सम्बंधों की का वर्णन किया गया है। इसके अलावा, राम कल्याण वैभोगमे (Rama Kalyana Vaibhogame) में राम को देवताओं का अवतार बताया गया है। इसमें राम की धर्मप्रियता, आदर्श, वीरता, जीवन के मूल्यों, सीता के विरह और वानवास के समय का वर्णन किया गया है।

इन चरणों में सीता की महिमा, करुणा और दया का वर्णन किया गया है। सीता को भूलों की पालक, भुक्ति और मुक्ति की प्रदाता, श्रीराम की अनुकम्पा में रमणीय रूप, धरती के पालक, जगद्भिराम, साकेत धाम, सब लोकों के आधारशिला, गर्वित होने वालों के दूर करने वाली, कंक के समान धीर, निगमागम में विहार करने वाली, अनुपम शरीर, नागों को विदार करने वाली, सब लोकों के आधार और परमेश्वर के नृत्य-संगीत के भव-जलधि में पात्र, तारनी कुल की संजाति, त्यागराज के स्तुति का उल्लेख किया गया है।

Sita Kalyana Vaibhogame

Pallavi
Sita Kalyana Vaibhogame
Rama Kalyana Vaibhogame

Anuppallavi
Pavanaja Stuti Patra Pavana Charitra
Ravi Soma Vara Netra Ramaniya Gatra (Sita)

Charanam 1
Bhakta Jana Paripala Bharita Sara Jala
Bhukti Mukti-Da Lila Bhu-Deva Pala (Sita)

Charanam 2
Pamarasura Bhima Pparipurna Kama
Shyama JagadAbhirama Saketa Dhama (Sita)

Charanam 3
Sarva Loka Dhara Samaraika Vira
Garva Manaba Dura Kanakaga Dhira (Sita)

Charanam 4
Nigamagama Vihara Nir-Upama Zarira
Naga Dharagha Vidara Nata Lokadhara (Sita)

Charanam 5
Parameza Nuta Gita Bhava Jaladhi Pota
Tarani Kula Sajjata Tyagaraja Nuta (Sita)

सीता कल्याण वैभोगमे

पल्लवी
सीता कल्याण वैभोगमे
राम कल्याण वैभोगमे

कदम
पवनजा स्तुति पत्र पवन चरित्र
रवि सोम वर नेत्र रमणी गात्र (सीता)

चरण 1
भक्त जन परिपाल भरित शर जाल
भुक्ति मुक्तिद लील भू-देव पाल (सीता)

चरण 2
पाम(रा)सुर भीम परिपूर्ण काम
श्याम जग(द)भिराम साकेत धाम (सीता)

चरण 3
सर्व लो(का)धर समा(राई)के वीर
गर्व मानव दूर कन(का)ग धीर (सीता)

चरण 4
निग(मा)गम विहार निरुपम शरीर
नग ध(रा)घ विदार नत लो(का)धार (सीता)

चरण 5
परमेश नुत गीत भव जलधि पात्र
तारनि कुल संजात त्यागराज नुत (सीता)

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। सीता कल्याण वैभोगमे मंत्र के उच्चारण, किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। सीता कल्याण वैभोगमे मंत्र का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Green Tara Mantra
Black Tara Mantra
White Tara Mantra
Yellow Tara Mantra
Blue Tara Mantra

Related posts

Mujhe Tune Data Bahut Kuch Diya Hai Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24

Janmashtami 2023: कब मनाई जाएगी जन्माष्टमी, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व और पूजन विधि

bbkbbsr24

Shendur Lal Chadhayo Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24