42.1 C
Bhubaneswar
April 19, 2024
Mantra

Mangal Bhavan Amangal Hari | मंगल भवन अमंगल हारी | Hari Anant Hari Katha Ananta

Credit the Video : Bhakti Bharat Ki YouTube Channel

Mangal Bhavan Amangal Hari | मंगल भवन अमंगल हारी | Hari Anant Hari Katha Ananta: दोस्तों नमस्कार, आज हम आप लोगों को इस पोस्ट के माध्यम से मंगल भवन अमंगल हारी मंत्र के बारे में बताएँगे। दोस्तों जब अधर्म बढ़ जाता है तब पृथ्वी पर संपूर्ण ब्रह्मांड के संरक्षक प्रभु श्री राम अवतार लेते हैं। भगवान राम का अर्थ है आनंददायक या रमणीय। जो भक्तों पर शुभ कृपा वर्षा करते हैं। तो आइये सुमिरन करते हैं मंगल भवन अमंगल हारी:

मंगल भवन अमंगल हारी

मंगल भवन अमंगल हारी
द्रबहु सुदसरथ अजिर बिहारी
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो, होइहै वही जो राम रचि राखा
को करे तरफ़ बढ़ाए साखा
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो, धीरज धरम मित्र अरु नारी
आपद काल परखिये चारी
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो, जेहिके जेहि पर सत्य सनेहू
सो तेहि मिलय न कछु सन्देहू
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो, जाकी रही भावना जैसी
प्रभु मूरति देखी तिन्ह तैसी
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

रघुकुल रीत सदा चली आई
प्राण जाए पर वचन न जाई
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो, हरि अनन्त हरि कथा अनन्ता
कहहि सुनहि बहुविधि सब संता
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

राम सिया राम सिया राम जय जय राम,
राम सिया राम सिया राम जय जय राम,
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

अर्थ :

  • जो मंगल करने वाले है और अमंगल हो दूर करने वाले है, वो दशरथ नंदन श्री राम है वो मुझपर अपनी कृपा करे।
  • जो भगवान श्री राम ने पहले से ही रच रखा है, वही होगा। हम्हारे कुछ करने से वो बदल नही सकता।
  • बुरे समय में यह चार चीजे हमेशा परखी जाती है, धैर्य, मित्र, पत्नी और धर्म।
  • सत्य को कोई छिपा नही सकता, सत्य का सूर्य उदय जरुर होता है।
  • जिनकी जैसी प्रभु के लिए भावना है उन्हें प्रभु उसकी रूप में दिखाई देते है।
  • रघुकुल परम्परा में हमेशा वचनों को प्राणों से ज्यादा महत्व दिया गया है।
  • प्रभु श्री राम भी अंनत हो और उनकी कीर्ति भी अपरम्पार है, इसका कोई अंत नही है। बहुत सारे संतो ने प्रभु की कीर्ति का अलग अलग वर्णन किया है।

Credit the Video : Govind Krsna Das YouTube Channel

Mangal Bhavan Amangal Hari

Mangal Bhavan Amangal Hari
Drabahu Sudasarath Achar Bihari
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

Ho, Hoihai Vahi Jo Ram Rachi Rakha
Ko Kare Taraf Badhae Sakha
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

Ho, Dhiraj Dharam Mitra Aru Naarii
Apad Kal Parakhiye Chari
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

Ho, Jehike Jehi Par Satya Sanehu
So Tehi Milay Na Kachhu Sandehu
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

Ho, Jaki Rahi Bhavana Jaisi
Prabhu Murat Dekhi Tin Taisi
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

Raghukul Rit Sada ChalI Aai
Pran Jae Par Vachan Na Jai
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

Ho, Hari Anant Hari Katha Ananta
Kahahi Sunahi Bahuvidhi Sab Santa
Ram Siya Ram Siya Ram Jay Jay Ram

ମଙ୍ଗଲ ଭବନ ଅମଂଗଲ ହାରୀ

ମଂଗଲ ଭବନ ଅମଂଗଲ ହାରୀ
ଦ୍ରବହୁ ସୁଦସରଥ ଅଚର ବିହାରୀ
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

ହୋ, ହୋଇହୈ ବହୀ ଜୋ ରାମ ରଚି ରାଖା
କୋ କରେ ତରଫ ବଢ଼ାଏ ସାଖା
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

ହୋ, ଧୀରଜ ଧରମ ମିତ୍ର ଅରୁ ନାରୀ
ଆପଦ କାଲ ପରଖିଯେ ଚାରୀ
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

ହୋ, ଜେହିକେ ଜେହି ପର ସତ୍ଯ ସନେହୂ
ସୋ ତେହି ମିଲଯ ନ କଛୁ ସନ୍ଦେହୂ
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

ହୋ, ଜାକୀ ରହୀ ଭାବନା ଜୈସୀ
ପ୍ରଘୁ ମୂରତି ଦେଖୀ ତିନ ତୈସୀ
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

ରଘୁକୁଲ ରୀତ ସଦା ଚଲୀ ଆଈ
ପ୍ରାଣ ଜାଏ ପର ବଚନ ନ ଜାଈ
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

ହୋ, ହରି ଅନନ୍ତ ହରି କଥା ଅନନ୍ତା
କହହି ସୁନହି ବହୁବିଧି ସବ ସଂତା
ରାମ ସିଯା ରାମ ସିଯା ରାମ ଜଯ ଜଯ ରାମ

Lyrics in Bengali

মংগল ভ঵ন অমংগল হারী

মংগল ভ঵ন অমংগল হারী
দ্রবহু সুদসরথ অচর বিহারী
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

হো, হোইহৈ ঵হী জো রাম রচি রাখা
কো করে তর৞ বঢ়াএ সাখা
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

হো, ধীরজ ধরম মিত্র অরু নারী
আপদ কাল পরখিযে চারী
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

হো, জেহিকে জেহি পর সত্য সনেহূ
সো তেহি মিলয ন কছু সন্দেহূ
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

হো, জাকী রহী ভা঵না জৈসী
রঘু মূরতি দেখী তিন তৈসী
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

রঘুকুল রীত সদা চলী আঈ
প্রাণ জাএ পর ঵চন ন জাঈ
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

হো, হরি অনন্ত হরি কথা অনন্তা
কহহি সুনহি বহু঵িধি সব সংতা
রাম সিযা রাম সিযা রাম জয জয রাম

Lyrics in Gujarati

મંગલ ભવન અમંગલ હારી

મંગલ ભવન અમંગલ હારી
દ્રબહુ સુદસરથ અચર બિહારી
રામ સિયા રામ સિયા રામ જય જય રામ

હો, હોઇહૈ વહી જો રામ રચિ રાખા
કો કરે તર૞ બ૝ાએ સાખા

હો, ધીરજ ધરમ મિત્ર અરુ નારી
આપદ કાલ પરખિયે ચારી

હો, જેહિકે જેહિ પર સત્ય સનેહૂ
સો તેહિ મિલય ન કછુ સન્દેહૂ

હો, જાકી રહી ભાવના જૈસી
રઘુ મૂરતિ દેખી તિન તૈસી

રઘુકુલ રીત સદા ચલી આઈ
પ્રાણ જાએ પર વચન ન જાઈ
રામ સિયા રામ સિયા રામ જય જય રામ

હો, હરિ અનન્ત હરિ કથા અનન્તા
કહહિ સુનહિ બહુવિધિ સબ સંતા
રામ સિયા રામ સિયા રામ જય જય રામ

Lyrics in Telugu

మంగల భవన అమంగల హారీ

మంగల భవన అమంగల హారీ
ద్రబహు సుదసరథ అచర బిహారీ
రామ సియా రామ సియా రామ జయ జయ రామ

హో, హోఇహై వహీ జో రామ రచి రాఖా
కో కరే తర౞ బౝాఏ సాఖా

హో, ధీరజ ధరమ మిత్ర అరు నారీ
ఆపద కాల పరఖియే చారీ

హో, జేహికే జేహి పర సత్య సనేహూ
సో తేహి మిలయ న కఛు సన్దేహూ

హో, జాకీ రహీ భావనా జైసీ
రఘు మూరతి దేఖీ తిన తైసీ

రఘుకుల రీత సదా చలీ ఆఈ
ప్రాణ జాఏ పర వచన న జాఈ
రామ సియా రామ సియా రామ జయ జయ రామ

హో, హరి అనన్త హరి కథా అనన్తా
కహహి సునహి బహువిధి సబ సంతా
రామ సియా రామ సియా రామ జయ జయ రామ

Lyrics in Kannada

ಮಂಗಲ ಭವನ ಅಮಂಗಲ ಹಾರೀ

ಮಂಗಲ ಭವನ ಅಮಂಗಲ ಹಾರೀ
ದ್ರಬಹು ಸುದಸರಥ ಅಚರ ಬಿಹಾರೀ
ರಾಮ ಸಿಯಾ ರಾಮ ಸಿಯಾ ರಾಮ ಜಯ ಜಯ ರಾಮ

ಹೋ, ಹೋಇಹೈ ವಹೀ ಜೋ ರಾಮ ರಚಿ ರಾಖಾ
ಕೋ ಕರೇ ತರೞ ಬೝಾಏ ಸಾಖಾ

ಹೋ, ಧೀರಜ ಧರಮ ಮಿತ್ರ ಅರು ನಾರೀ
ಆಪದ ಕಾಲ ಪರಖಿಯೇ ಚಾರೀ

ಹೋ, ಜೇಹಿಕೇ ಜೇಹಿ ಪರ ಸತ್ಯ ಸನೇಹೂ
ಸೋ ತೇಹಿ ಮಿಲಯ ನ ಕಛು ಸನ್ದೇಹೂ

ಹೋ, ಜಾಕೀ ರಹೀ ಭಾವನಾ ಜೈಸೀ
ರಘು ಮೂರತಿ ದೇಖೀ ತಿನ ತೈಸೀ

ರಘುಕುಲ ರೀತ ಸದಾ ಚಲೀ ಆಈ
ಪ್ರಾಣ ಜಾಏ ಪರ ವಚನ ನ ಜಾಈ
ರಾಮ ಸಿಯಾ ರಾಮ ಸಿಯಾ ರಾಮ ಜಯ ಜಯ ರಾಮ

ಹೋ, ಹರಿ ಅನನ್ತ ಹರಿ ಕಥಾ ಅನನ್ತಾ
ಕಹಹಿ ಸುನಹಿ ಬಹುವಿಧಿ ಸಬ ಸಂತಾ
ರಾಮ ಸಿಯಾ ರಾಮ ಸಿಯಾ ರಾಮ ಜಯ ಜಯ ರಾಮ

Lyrics in Malayalam

മംഗല ഭവന അമംഗല ഹാരീ

മംഗല ഭവന അമംഗല ഹാരീ
ദ്രബഹു സുദസരഥ അചര ബിഹാരീ
രാമ സിയാ രാമ സിയാ രാമ ജയ ജയ രാമ

ഹോ, ഹോഇഹൈ വഹീ ജോ രാമ രചി രാഖാ
കോ കരേ തര൞ ബ൝ാഏ സാഖാ

ഹോ, ധീരജ ധരമ മിത്ര അരു നാരീ
ആപദ കാല പരഖിയേ ചാരീ

ഹോ, ജേഹികേ ജേഹി പര സത്യ സനേഹൂ
സോ തേഹി മിലയ ന കഛു സന്ദേഹൂ

ഹോ, ജാകീ രഹീ ഭാവനാ ജൈസീ
രഘു മൂരതി ദേഖീ തിന തൈസീ

രഘുകുല രീത സദാ ചലീ ആഈ
പ്രാണ ജാഏ പര വചന ന ജാഈ
രാമ സിയാ രാമ സിയാ രാമ ജയ ജയ രാമ

ഹോ, ഹരി അനന്ത ഹരി കഥാ അനന്താ
കഹഹി സുനഹി ബഹുവിധി സബ സംതാ
രാമ സിയാ രാമ സിയാ രാമ ജയ ജയ രാമ

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। मंगल भवन अमंगल हारी मंत्र का अर्थ और महत्व को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। मंगल भवन अमंगल हारी मंत्र का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

इसे भी पढ़े : सांस लेने और छोड़ने की क्रिया से मन स्थिर हो जाता है

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Om Damodaraya Vidmahe
Rog Nashak Bishnu Mantra
Ram Gayatri Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya

Related posts

Tayata Om Mantra | Buddha Medicine Mantra | Buddhist Healing Mantra

bbkbbsr24

Om Chanting | ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

bbkbbsr24

Lokabhi Ramam Rana Rang Dheeram | लोकाभिरामं रणरंगधीरं राजीवनेत्रं रघुवंशनाथम्

bbkbbsr24