31.1 C
Bhubaneswar
May 28, 2024
Stotram

Maa Tarini Stuti | ମା ତାରିଣୀ ସ୍ତୁତୀ

Tarini Stuti

Credit the Video : Bhakti YouTube Channel

Maa Mangala Stuti

ମା ତାରିଣୀ ସ୍ତୁତୀ 

ଶରଣାଗତ ଦିନାର୍ତ୍ତ ପରିତ୍ରାଣ ପରାୟଣୀ
ସର୍ବସାର୍ତ୍ତ ହରେ ଦେବୀ ନାରାୟଣୀ ନମୋସ୍ତୁତେ

ଜୟତୁ ତାରିଣୀ ମାଗୋ ଶରଣ ରକ୍ଷଣୀ
ବିପଦଭଞ୍ଜିନୀ ମାଗୋ ପତିତପାବନୀ ।

ତୋ ପାଦେ ସ୍ମରଣ କଲେ ଦୁଃଖ ହୁଏ ଦୂର
ତୋ ପାଦରେ କରେ ମାତ କୋଟି ନମସ୍କାର ।

କେନ୍ଦୁଝରେ ରହିଲୁ ମା’ ନାମ ତୋ ତାରିଣୀ,
ଶଙ୍କଟୁ ଉଦ୍ଧାରୁ ବୋଲି ସଙ୍କଟହାରିଣୀ ।

ଅନାଥକୁ ଦୟା ମା’ଗୋ ଦୂବ କରୁ ଦାରୁ,
ଦୁସ୍ତର ପଡ଼ିଲେ ମା’ଗୋ ପ୍ରାଣୀଙ୍କି ଉଦ୍ଧାରୁ ।

ଝଙ୍କଡ଼େ ରହିଲୁ ମା’ଗୋ ଶାରଳା ବୋଲାଇ,
କାକଟପୁରେ ରହିଲୁ ମଙ୍ଗଳା ଯେ’ତୁହି ।

ତୋହର ମହିମା ମା’ଗୋ କେ ପାରିବ କହି,
ମାଡ଼ି ବସିଅଛୁ ଦଶଦିଗ ମହାମାୟୀ ।

ନାନା ପୁଷ୍ପମାନ ପିନ୍ଧୁ ମନ୍ଦାର ଯେ’ ମାଳ,
କାତୀ ଯେ ଖର୍ପର ମା’ଗୋ ଦିଶେ କି ସୁନ୍ଦର ।

ତୋ ପାଦେ ସ୍ମରଣ କଲେ ଦୁଃଖ ହୁଏ ଦୂର,
ତୋ ପାଦରେ କରେ ମୁହିଁ କୋଟି ନମସ୍କାର ।

ଦୁଃଖେ ସୁଖେ ମୋର ସାହା ହେଉଥିବୁ ମା’
ଅଭୟଦାୟିନୀ ମା’ଗୋ ହେଉଥିବୁ ସାହା ।

ଯେତେ ଦୋଷ ଅଛି କ୍ଷମା କର ମହାମାୟୀ,
ଗୁହାରୀ କରୁଛି ତୋର ପାଦରେ ଯେ ମୁହିଁ ।

ରଖିଥିବୁ ଘୋଡ଼ାଇ ମା’ ତୋ ପଣତ ତଳେ,
ଡାକୁଥିବି ତୋତେ ମୁହିଁ ମା’ଲୋ ଆକୁଳେ ।

ତୋହରି ଚରଣେ ମା’ଗୋ ରହୁ ମନସ୍ଥିର,
ସବୁରୀ ଦୁଃଖକୁ ମା’ଗୋ କର ତୁହି ଦୂର ।

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। Maa Tarini Stuti के उच्चारण, किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। Maa Tarini Stuti का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Om Damodaraya Vidmahe
Om Sarve Bhavantu Sukhinah
Rog Nashak Bishnu Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya

Related posts

Pranamya Shirasa Devam | प्रणम्य शिरसा देवं | प्राणम्य शिरसा देवम

bbkbbsr24

Ganga Stotram Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24

Tulsi Stuti | तुलसी स्तुति | Tulsi Pujan

Bimal Kumar Dash