28.1 C
Bhubaneswar
July 16, 2024
Stotram

Natyarambha Sloka

Credit the Video: Ananthu Krishnan A K YouTube Channel

Natyarambha Sloka – These are the seven Shlokas from Natya Sastra, written by Bharata Muni that a dancer must know/recite before starting the Dance. Hence, these are called Natyarambha Shlokas. Natya means Dance and Arambha means Beginning.

Origin of Natyasastra – “patya” (speech) from Rig veda, “Gana”(song) from Sama veda, “Abhinaya” from the Yajur veda and “Rasa”(Rasam) from Atharva veda and created the fifth veda called “Natyaveda” and told Bharata muni to spread this across the world.

Natyarambha Sloka

Pranamya Shirasa Devou
Pithamaha Maheswarou
Natyashastram Pravaksyami
Brahamanaya Duthahrutham – I

Meaning : Bharata Muni says ” I bow my head to Pitamaha (Brahma – the creator of the Natyasastra) and Maheswara(Lord Siva – the creator of dance) and reveal the science of dance (Natyasastra) as it was depicted to me by Lord Brahma.

Devadanaam Shirasthasthu
Gurunamasya samsthithaha
Vakshasthaschaiva vipranaam
Sheshethwa niyamo bhaved – II

Meaning : We offer prayers with Anjali hasta placed above the head for the Gods, at the forehead for the Guru’s, in front of the chest for all the elders and for all others there is no special rules.

Vishnu shakthi samuthpannae
Chithravarnae maheethalai
Anaeka ratna sampannae
Bhoomi devi namosthuthae – III

Meaning : I pay my salutation to the mother earth who is conceived from the power and strength of Lord Vishnu, and who is endowed with a magnificent horizon of picturesque colors and many precious stones.

Samudravasanae devii
Parvathasthana mandalae
Natyam Karishyae Bhoodevii
Padaakhatham Shamaswamae – IV

Meaning : The Goddess who wears the sea as her costume, having mountains as the breast we ask your forgiveness for stamping on you while we start with the dancing.

Kati Karna samaayathra
Koorparaamsha shirasthatha
Samunnatham uraschaiva
Saoushtavam nama Thath Bhaved – V

Meaning : When you align your ears with the waist, head raised with chin slightly up and the chest raised slightly, this posture is called the Saushtavam.

Prayena Karanae Karyoo
Vamovakshasthitha karaha
Charanasyaanu gaschaapi
Dakshinasthu Bhaved Karaha – VI

Meaning : While doing a “Karana” place your left hand in front of the chest, the feet turned to the sides and start with the right hand.

Sarva Shaasthra Sampannam
Sarva Shilpa Pravarthakam
Natyaakyam Panchamam Vedam
Sethihaasam Karomyaham – VII

Meaning : Lord Brahma said : ” I hereby describe Natya which is enriched by all sciences and sculptures which can be considered as the panchama veda(Fifth veda) apart from the four vedas.

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। Natyarambha Sloka के उच्चारण, किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। Natyarambha Sloka का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : भजगोविन्दं भजगोविन्दं गोविन्दं भज मूढमते

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Om Damodaraya Vidmahe
Om Sarve Bhavantu Sukhinah
Rog Nashak Bishnu Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya
Black Tara Mantra
White Tara Mantra
Yellow Tara Mantra
Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Blue Tara Mantra

Related posts

Gopi Geet | गोपी गीत

bbkbbsr24

Sri Radha Kripa Katakshya Stotram | श्री राधा कृपा कटाक्ष स्त्रोत्र

bbkbbsr24

Brundabati Stuti | ଶ୍ରୀ ବୃନ୍ଦାବତୀଙ୍କ ସ୍ତୁତି

Bimal Kumar Dash