28.1 C
Bhubaneswar
July 16, 2024
Mantra

Shante Prashante Sarva Bhaya Upasha Mani Swaha | Shante Prashante | क्रोध शांत के लिए

Shante Prasante

Credit the Video : Bhakti YouTube Channel

Shante Prashante Sarva Bhaya Upasha Mani Swaha | Shante Prashante | क्रोध शांत के लिए: आप डर, मानसिक शांति और भय से मुक्ति प्राप्त के लिए इस मंत्र का 108 जाप अपनी गति से 40 दिनों तक कर सकते हैं। इस मंत्र का उपयोग अक्सर ध्यान और प्रार्थना के समय किया जाता है। इस मंत्र का नियमित जाप करने से मानसिक शांति, स्थिरता, और सभी प्रकार के भय और चिंता से मुक्ति मिलती है।

विशेष रूप से मनोवैज्ञानिक नकारात्मकता के विभिन्न रूपों में मदद करने के लिए मंत्र का उपयोग करने का उद्देश्य ऊर्जा को एक सार्वभौमिक स्रोत में वापस छोड़ना है। तब ऊर्जा शुद्ध रूप में पुनः प्राप्त हो जाती है। वह स्वरूप एक आध्यात्मिक रत्न है।

भक्ति योग परंपरा मैं मंत्र उपचार का डिज़ाइन ऐसे किए गए हैं। जैसे सभी प्रकार के भय, क्रोध, भ्रम, संभ्रम, दंभ, अहंकार, लोभ, खेड़ा, मोह, शोक, घृणा, कपटता, अविश्वास, शर्म, आलस्य, उदासी आदि सहित भावनात्मक प्रतिक्रियाओं को बदलने के लिए मंत्र शामिल हैं।

Shante Prashante Sarva Bhaya 

Shante Prashante
Sarva Bhaya
Upasha Mani Swaha

शांते प्रशांते सर्व भय

शांते प्रशांते
सर्व भय
उपशा मणि स्वाहा

मंत्र का अर्थ:

परम शांति का आह्वान करना। मैं भय के गुण को उच्च और निराकार सार्वभौमिक मन में उसके स्रोत को समर्पित करता हूँ। शांति, अधिकतम शांति, सभी भय का उपशमन हो, मैं इसे अर्पित करता हूँ।

मंत्र का महत्व:

शांते (Shante) : शांति का आह्वान। यह शब्द शांति या सुकून का प्रतीक है। यह आपके भीतर शांति और शांति की स्थिति का आह्वान करता है।
प्रशांते (Prashante) : सर्वोच्च शांति का आह्वान। यह शब्द उच्चतम या सर्वोच्च शांति को संदर्भित करता है। यह किसी भी अशांति या उत्तेजना से परे, शांति की अंतिम स्थिति का आह्वान करता है।

सर्व भय (Sarva Bhaya) : सभी प्रकार के भय। इसका अर्थ है सभी भय या चिंताएँ। मंत्र मन को परेशान करने वाले सभी प्रकार के भय और असुरक्षाओं को कम करने या शांत करने का प्रयास करता है।

उपशा (Upasha) : उपशमन या समाप्ति। इस शब्द का अनुवाद शांति, समाप्ति या निवारण के रूप में किया जा सकता है। यह अशांति को शांत करने या हल करने का सुझाव देता है।

मणि (Mani) : अनमोल गहना। इसका तात्पर्य यह है कि मंत्र के माध्यम से व्यक्ति को मूल्यवान स्थिति या गुण की प्राप्ति होती है।

स्वाहा (Swaha) : अर्पण करना, समर्पण करना। वैदिक मंत्रों के अंत में उपयोग किया जाता यह एक समर्पण को दर्शाता है। यह स्वयं को परमात्मा या मंत्र की शक्ति के प्रति समर्पण करने या अर्पित करने के कार्य का प्रतीक है।

यह भी देखें: Om Krishnaya Vasudevaya Haraye

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। शांते प्रशांते सर्व भय उपशा मणि स्वाहा का अर्थ और महत्व को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। शांते प्रशांते सर्व भय उपशा मणि स्वाहा का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : अमृत ​​है हरि नाम जगत में

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

इसे भी पढ़े : भजगोविन्दं भजगोविन्दं गोविन्दं भज मूढमते

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Om Damodaraya Vidmahe
Rog Nashak Bishnu Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya

Related posts

Shreem Brzee Mantra | श्रीम ब्रजी मंत्र 108 बार

Bimal Kumar Dash

Navadha Bhakti | नवधा भक्ति

bbkbbsr24

Panchakshari Mantra Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24