27.8 C
Bhubaneswar
April 17, 2024
Ashtakam

Vaidyanatha Ashtakam | वैद्यनाथ अष्टकम्

Credit the Video : Snehvardhan Shukla YouTube Channel

वैद्यनाथ अष्टकम् | Vaidyanatha Ashtakam: दोस्तों नमस्कार, आज हम आप लोगों को इस पोस्ट के माध्यम से वैद्यनाथ अष्टकम् के बारे में बताएँगे। तो आइये सुमिरन करते हैं वैद्यनाथ अष्टकम्:

Vaidyanatha Ashtakam

Shri Vaidyanatha Ashtakam

Sree Rama Soumitri Jatayu Veda
Shadanaditya Kujarchitaya
Sree Neelakanthaya Daya Mayaya
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 1॥

Ganga Pravahendu Jata Dharaya
Trilochanaya Smara Kala Hantre
Samsta Devairapi Poojitaya
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 2॥

Bhakta Priyaya, Tripurantakaya ,
Pinakine Dushta Haraya Nityam,
Pratyaksha Leelaya Manushya Loke,
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 3॥

Prabhoota Vatadi Samasta Roga,
Pranasa Kartre Muni Vanditaya,
Prabhakarendwagni Vilochanaya,
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 4॥

Vakshrotra Netrangiri Viheena Janto,
Vakshrotra Netrangiri Sukha Pradaya,
Kushtadi Sarvonnata Roga Hantre,
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 5॥

Vedanta Vedyaya Jagan Mayaya,
Yogiswara Dhyeya Padambujaya,
Trimurty Roopaya Sahasra Namne,
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 6॥

Swateertha Mritbhashma Bhridanga Bhajam,
Pisacha Dukha Arti Bhayapahaya,
Atma Swaroopaya Shareera Bhajaam,
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 7॥

Sree Neelakanthaya Vrishabha Dhwajaya,
Sarakganda Bhasmadhyapi Shobithaya,
Suputra Daradi Subhagyadaya,
Sree Vaidyanathaya Namah Sivaya ॥ 8॥

Phalashruti

Valambikesha Vaidyesha Bhava Roga Hareti Cha
Japen Nama Trayam Nityam Maha Roga Nivaranam

॥ Iti Sri Vaidyanath Ashtakam Sampurnam ॥

वैद्यनाथ अष्टकम्

श्री राम सौमित्रिजटायुवेद
षडाननादित्य कुजार्चिताय ।
श्रीनीलकण्ठाय दयामयाय
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 1 ॥

गङ्गाप्रवाहेन्दु जटाधराय
त्रिलोचनाय स्मर कालहन्त्रे ।
समस्त देवैरभिपूजिताय
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 2 ॥

भक्तप्रियाय त्रिपुरान्तकाय
पिनाकिने दुष्टहराय नित्यम् ।
प्रत्यक्षलीलाय मनुष्यलोके
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 3 ॥

प्रभूतवातादि समस्तरोग-
प्रणाशकर्त्रे मुनिवन्दिताय ।
प्रभाकरेन्द्वग्निविलोचनाय
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 4 ॥

वाक्ष्रोत्रनेत्राङ्घ्रि विहीनजन्तोः
वाक्ष्रोत्रनेत्राङ्घ्रि सुखप्रदाय ।
कुष्ठादिसर्वोन्नतरोगहन्त्रे
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 5 ॥

वेदान्तवेद्याय जगन्मयाय
योगीश्वरध्येयपदाम्बुजाय ।
त्रिमूर्तिरूपाय सहस्रनाम्ने
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 6 ॥

स्वतीर्थमृद्भस्मभृताङ्गभाजां
पिशाचदुःखार्तिभयापहाय ।
आत्मस्वरूपाय शरीरभाजां
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 7 ॥

श्रीनीलकण्ठाय वृषध्वजाय
स्रक्गन्धभस्माद्यभिशोभिताय ।
सुपुत्रदारादि सुभाग्यदाय
श्री वैद्यनाथाय नमः शिवाय ॥ 8 ॥

फलस्तुति

बालाम्बिकेश वैद्येश भवरोगहरेति च ।
जपेन्नामत्रयं नित्यं महारोगनिवारणम् ॥

॥ इति श्री वैद्यनाथाष्टकम् सम्पूर्णं ॥

Read More: Vaidyanatha Namaskaram

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। वैद्यनाथ अष्टकम् के उच्चारण, किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। वैद्यनाथ अष्टकम् का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Om Damodaraya Vidmahe
Om Sarve Bhavantu Sukhinah
Rog Nashak Bishnu Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya
Black Tara Mantra
White Tara Mantra
Yellow Tara Mantra
Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Blue Tara Mantra

Related posts

ଶ୍ରୀ ଗୁରୁଦେବାଷ୍ଟକମ୍ Lyrics in Odia – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24

Chandrashekhara Ashtakam | श्री चन्द्रशेखराष्टकम्

bbkbbsr24

Shri Gopijana Vallabha Ashtakam | श्री गोपीजन वल्लभाष्टकम्

bbkbbsr24