31.1 C
Bhubaneswar
May 28, 2024
Blog

मौन का रहस्य | मौन को जिसने जान लिया उसने सब कुछ जान लिया

मौन का रहस्य | मौन को जिसने जान लिया उसने सब कुछ जान लिया (maun ko jisane jaan liya usane sab kuchh jaan liya): दोस्तों नमस्कार, आज हम इस लेख माध्यम से मौन का रहस्य के बारे में बात करेंगे। योगीजन कहते हैं कि आप अपने ‍जीवन में कितना मौन अर्जित किया और कितनी बातें व्यर्थ कीए। कभी-कभी सबकुछ होने के बाद भी मानसिक और शारीरिक शांति नहीं मिलती। ध्यान योग और मौन का निरंतर अभ्यास करने से सकारात्मक सोच का विकास होता है, और हमारे शरीर के अंदर बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। जब तक मन है, तब तक सांसारिक उपद्रव है। मन गया कि संसार खत्म और संन्यास शुरू।

मौन का रहस्य :

मौन तपस्या और ध्यान का ही एक रूप है। मौन एक शीतल मन है, जो ध्यान के जरिए, मन को शोधन करके स्वस्थ्‍य, आनंददायक और उज्जवल भविष्य बनता है। योग कहता है कि मौन से जहाँ मन की मौत हो जाती है, वहीं मौन से मन की ‍शक्ति भी बढ़ती है। सभी तरह के रोग, शोक और समस्याओं का समाधान हो जाता है।

इसे भी पढ़े : भजगोविन्दं भजगोविन्दं गोविन्दं भज मूढमते

मौन को जिसने जान लिया उसने सब कुछ जान लिया :

हम एक ऐसी दुनिया में रहते हैं, जहां शान्ति और संतोष को नष्ट करने वाले व्याकुलता है। हमारे मन में अनवरत वहीं विचार और वही बातें पिछले कई वर्षों से चलती आ रही है। आयुर्वेद के अनुसार रोग और शोक का निर्माण पहले मन में होता हैतब उसके शरीर पर लक्षण दिखाई देने शुरु होते हैं। अधिकतर मनुष्य तर्क कर के, अशुद्ध अन्न, अशुद्ध कर्म और अशुद्ध वचन से अपने मन को दूषित कर लेते हैं। कर्म का चक्र छोटा है, लेकिन भाग्य का चक्र बड़ा है। जब तक कर्म के छोटे छोटे चक्र नहीं चलेंगे तब तक भाग्य का बड़ा चक्र नहीं घुमेगा। मौन में सबसे पहले जुबान चुप होती है आप व्यर्थ की बातों से अलग हो कर धीरे-धीरे मन को भी चुप करने का प्रयास करें। अच्छा सोचे और अच्छा बोलने का प्रयास शुरू करें। जो हमारे चिंतित विचारों के चक्र को शोधन करके एक शानदार अनुभव की स्थिति में छोड़ देगा।

यह भी देखें: Om Krishnaya Vasudevaya Haraye

मौन रहने का तरीका: वैसे मन को शां‍त करने के लिए मौन से अच्छा और कोई दूसरा रास्ता नहीं। मौन से सकारात्मक सोच का विकास होता है। यदि मौन के साथ ध्यान और योग का निरंतर अभ्यास किया जा रहा है, तो व्यक्ति के शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता को बढा जा सकता है। यदि आप ध्यान कर रहे हैं, तो आप अपनी श्वासों की आवाज को सुनने दें। मौन रहने का समय, किसी भी शांत स्थान पर रहकर हर दिन ध्यान या मौन 20 मिनट से लेकर 1 घंटे तक करना शुरू कर दिजीए। जरूरी है कि मौन रहने के दौरान सिर्फ श्वासों के आवागमन को महसूस करना और उसका आनंद लेंना।

इसे भी पढ़े : अमृत ​​है हरि नाम जगत में

मौन के लाभ: मौन से मन की शक्ति बढ़ती है। शक्तिशाली मन में किसी भी प्रकार का भय, क्रोध, चिंता और व्यग्रता नहीं रहती। मौन का अभ्यास करने से सभी प्रकार के मानसिक विकार समाप्त हो जाते हैं। रात में नींद अच्छी आती है।

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। मौन का रहस्य, मौन रहने का तरीका, मौन के लाभ किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। मौन रहना या ना रहना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

इसे भी पढ़े : सांस लेने और छोड़ने की क्रिया से मन स्थिर हो जाता है

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Om Damodaraya Vidmahe
Rog Nashak Bishnu Mantra
Ram Gayatri Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya

Related posts

Top 100 Indian Baby Girl Names of 2023

bbkbbsr24

How to keep Maha Shivratri 2023 fast | जानिए महाशिवरात्रि का व्रत करने के नियम, विधि और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

bbkbbsr24

घर में कौन सी तुलसी लगानी चाहिए | Ghar Me Kaun Si Tulsi Lgani Chahie

bbkbbsr24