27.8 C
Bhubaneswar
April 17, 2024
Stotram

Raghunath Mangal Stotram | रघुनाथ मंगल स्तोत्र

Credit the Video : Rajshri Soul YouTube Channel

Raghunath Mangal Stotram | रघुनाथ मंगल स्तोत्र: दोस्तों नमस्कार, आज हम आप लोगों को इस लेख के माध्यम से रघुनाथ मंगल स्तोत्र के बारे में बताने वाले हैं।

रघुनाथ मंगल स्तोत्र

मङ्गलं लोकरामाय रघुरामाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं पद्मवक्त्राय रामभद्राय मङ्गलम् ॥ १ ॥

मङ्गलं कोसलेन्द्राय रामचन्द्राय मङ्गलम् ।
मङ्गलं मम नाथाय रघुनाथाय मङ्गलम् ॥ २ ॥

मङ्गलं रणधीराय रघुवीराय मङ्गलम् ।
मङ्गलं सत्यसन्धाय राजसिंहाय मङ्गलम् ॥ ३ ॥

मङ्गलं निरवद्याय वेदवेद्याय मङ्गलम् ।
मङ्गलं मुक्तिमूलाय मेघनीलाय मङ्गलम् ॥ ४ ॥

मङ्गलं सत्वरध्वस्तरुद्रचापाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं जानकीनेत्रपूर्णपात्राय मङ्गलम् ॥ ५ ॥

मङ्गलं मिथिलानाथमौलिरत्नाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं निस्सपत्नाय मङ्गलं नीलशालिने ॥ ६ ॥

मङ्गलं मैथिलीधन्यवनवासाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं लक्ष्मणोपात्तभृत्यकृत्याय मङ्गलम् ॥ ७ ॥

मङ्गलं गुहसङ्गेन गङ्गाकूलनिवासिने ।
मङ्गलं गौतमीतीरपारिजाताय मङ्गलम् ॥ ८ ॥

मङ्गलं दण्डकारण्यवासिनिर्वातचेतसे ।
मङ्गलं शबरीदत्तफलमूलाभिलाषिणे ॥ ९ ॥

मङ्गलं सद्गुणारोपचापहस्ताय मङ्गलम् ।
मङ्गलं वायुपुत्रेण वन्दनीयाय मङ्गलम् ॥ १० ॥

मङ्गलं वालिसुग्रीवहर्षशोकाभिघातिने ।
मङ्गलं मैथिलीमौलिमणिरञ्जितवक्षसे ॥ ११ ॥

मङ्गलं सर्वलोकानां शरण्याय महीयसे ।
मङ्गलं सागरोत्साहश‍ृङ्गभङ्गविधायिने ॥ १२ ॥

मङ्गलं वासवामित्रमर्दनोवृत्तबाहवे ।
मङ्गलं विश्वमित्राय विद्रावणदयादृशे ॥ १३ ॥

मङ्गलं वीक्षमाणाय मैथिलीवदनाम्बुजम् ।
मङ्गलं विनिवृत्ताय पुरं पौरनिवृत्तये ॥ १४ ॥

मङ्गलं भरतप्रीतिप्राप्तराज्याय मङ्गलम् ।
मङ्गलं मैथिलीयोगमहनीयाय मङ्गलम् ॥ १५ ॥

मङ्गलं हारकोटीरपादपीठाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं रणधुर्याय तुङ्गपन्नगशायिने ॥ १६ ॥

मङ्गलं सह्यजामात्यसान्निध्यकृतचेतसे ।
मङ्गलं मानुषे लोके वैकुण्ठमिति तिष्ठते ॥ १७ ॥

शेषशैलनिवासाय श्रीनिवासाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं वेधसो वेदिमेदिनीग्रहमेधिने ॥ १८ ॥

वरदाय दयाधाम्ने वीरोदाराय मङ्गलम् ।
मङ्गलं धनदादानदत्तसक्तिषि सम्पदे ॥ १९ ॥

मङ्गलं नारसिंहाय नरसिंहाय मङ्गलम् ।
मङ्गलं मामहीनीलानित्यमुक्तैकचक्षुषे ॥ २० ॥

य इदं कीर्तयेन्नित्यं मङ्गलं मङ्गलस्तवम् ।
वर्तयेत् पुरतस्तस्य मङ्गलायतनं हरिः ॥ २१ ॥

॥ श्री रघुनाथ मङ्गलं सम्पूर्णम् ॥

Raghunath Mangal Stotram

Mangalam Lokaramaya Raghuramaya Mangalam
Mangalam Padmavaktraya Ramabhadraya Mangalam ॥ 1 ॥

Mangalam Kosalendraya Ramachandraya Mangalam
Mangalam Mama Nathaya Raghunathaya Mangalam ॥ 2 ॥

Mangalam Randhiraya Raghuviraya Mangalam
Mangalam Satyasandhaya Rajasimhaya Mangalam ॥ 3 ॥

Mangalam Niravadyaya Vedavedyaya Mangalam
Mangalam Muktimulaya Meghaneelaya Mangalam ॥ 4 ॥

Mangalam Satvaradhvasta Rudrachapaya Mangalam
Mangalam Janakinetra Purnapatraya Mangalam ॥ 5 ॥

Mangalam Mithilanatha Mauliratnaya Mangalam
Mangalam Nissapatnyaya Mangalam Neelashaline ॥ 6 ॥

Mangalam Maithilidhanya Vanavasaya Mangalam
Mangalam Lakshmanopatta Bhruttyakrutyaya Mangalam ॥ 7 ॥

Mangalam Guhasangena Gangakulanivasine
Mangalam Gautamiteera Parijataya Mangalam ॥ 8 ॥

Mangalam Dandakaranya Vasinirvatachetase
Mangalam Shabaridatta Phalamulabhlashine ॥ 9 ॥

Mangalam Sadgunaropa Chapahastaya Mangalam
Mangalam Vayuputren Vandaniyaya Mangalam ॥ 10 ॥

Mangalam Valisugreeva Harshashokabhighatine
Mangalam Maithilimauli Maniranjitavakshase ॥ 11 ॥

Mangalam Sarvalokanam Sharanyaya Mahiyase
Mangalam Sagarotsaha Shrungabhrunga Vidhayine ॥ 12 ॥

Mangalam Vasavamitra Mardanovruttabahave
Mangalam Vishwamitraya Vidravanadayadrushe ॥ 13 ॥

Mangalam Veekshamaanaya Maithilivadanambujam
Mangalam Vinivruttaya Puram Pauranivruttaye ॥ 14 ॥

Mangalam Bharatapreeti Praptarajyaya Mangalam
Mangalam Maithiliyoga Mahaniyaya Mangalam ॥ 15 ॥

Mangalam Haarakotira Padapithaya Mangalam
Mangalam Ranadhuryaya Tungapannagashayine ॥ 16 ॥

Mangalam Sahyajamatya Sannidhyakrutachetase
Mangalam Manusheloke Vaikunthamiti Tishthate ॥ 17 ॥

Sheshashailanivasaya Shrinivasaya Mangalam
Mangalam Vedhaso Vedi Medinigrahamedhine ॥ 18 ॥

Varadaya Dayadhamne Virodaraya Mangalam
Mangalam Dhanadadan Datta Saktishi Sampade ॥ 19 ॥

Mangalam Naarasimhaya Narasimhaya Mangalam
Mangalam Mamahineela Nityamuktaika Chakshushe ॥ 20 ॥

Ya Idam Keertayennityam Mangalam Mangalastavam
Vartayet Puratastasya Mangalayatanam Harih ॥ 21 ॥

॥ Iti Shri Raghunatha Mangalam Stotram Sampoornam ॥

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। रघुनाथ मंगल स्तोत्र (Raghunath Mangal Stotram) का अर्थ और महत्व को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। मंत्र का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

इसे भी पढ़े : सांस लेने और छोड़ने की क्रिया से मन स्थिर हो जाता है

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Om Damodaraya Vidmahe
Rog Nashak Bishnu Mantra
Ram Gayatri Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya

Related posts

Kali Tandav Stotram

bbkbbsr24

Ganga Stotram Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24

जय गणेश पाहिमाम | श्री गणेश रक्षा स्त्रोतम | Shree Ganesh Raksha Stotram

bbkbbsr24