33.1 C
Bhubaneswar
March 3, 2024
Bhajan

Pranamya Shirasa Devam Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

Pranamya Shirasa Devam – According to Narada Purana Pranamya Shirasa Devam is also known as the Shri Ganesha Stotram or Sankata Nashanam Ganapati Stotram. This is a solemn prayer to Lord Ganesha that help you remove obstacles from your life and provider of wealth and prosperity. Ganesha is also known as the remover of all obstacles or Vighnaharta. The mantra has the power to channel our inner devotion, dedication, and intention to get out of any difficult situation. It is very calming to the mind during times of nervousness or anxiety

Credit the Video: Rajshri SoulYouTube Channel

Pranamya Shirasa Devam

Pranamya Shirasa Devam in English ॥

Pranamya Shirasa Devam Gauriputram Vinayakam ।
Bhakta Vasam Smare Nityam Aayuh Kamartha Siddhye ॥

Prathamam Vakratundam Cha Ekdandatam Dvitiyakam ।
Tritiyam Krushnapingaksham Gajvaktram Chaturthakam ॥

Lambodarm Panchamam Cha Shashtham Vikatmev Cha ।
Saptamam Vighnrajendram Dhumravarnam Tathashtakam ॥

Navamam Bhalchandram Cha Dashamam Tu Vinayakam ।
Ekadasham Ganpatim Dvadasham Tu Gajananam ॥

Dvadashaitani Namani Trisandhyam Yah Pathennarah ।
Na Cha Vighnabhayam Tasya Sarvsiddhikaram Prabhoo ॥

Vidhyarthi Labhate Vidhyam Dhanarthi Labhate Dhanam ।
Putrarthi Labhate Putran Moksharthi Labhate Gatim ॥

Japed Ganpatistotram Shadbhirmasaih Fhalam Labhet ।
Samvatsaren Siddhim Cha Labhate Natra Sanshayah ॥

Ashthabhyo Brahmanebhyshya Likhitva Yaha Samarpayet ।
Tasya Vidhya Bhavetsarva Ganeshsya Prasadtah ॥

॥ Iti Shri Narad Purane Sankat Nashanam Ganesha Stotram Sampurnam ॥

इसे भी पढ़े : Om Gan Ganpataye Namo Namah

Credit the Video: Times Music Spiritual YouTube Channel

इसे भी पढ़े : Ganesh Chaturthi

॥ प्रणम्य शिरसा देवं 

प्रणम्य शिरसा देवं गौरीपुत्र विनायकम् ।
भक्तावासं स्मरेन्नित्यायुष्कामार्थसिद्धये ॥१॥

प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम् ।
तृतीयं कृष्णपिङ्गाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम् ॥२॥

लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च ।
सप्तमं विघ्नराजं च धूम्रवर्ण तथाष्टमम् ॥३॥

नवमं भालचन्द्रं च दशमं तु विनायकम् ।
एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम् ॥४॥

द्वादशैतानि नामानि त्रिसन्ध्यं यः पठेन्नरः ।
न च विघ्नभयं तस्य सर्वसिद्धिश्च जायते ॥५॥

विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम् ।
पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम् ॥६॥

जपेद् गणपतिस्तोत्रं षड्भिर्मासैः फलं लभेत् ।
संवत्सरेण सिद्धिं च लभते नात्र संशयः ॥७॥

अष्टाभ्यो ब्राह्मणेभ्यश्च लिखित्वा यः समर्पयेत् ।
तस्य विद्या भवेत्सर्वा गणेशस्य प्रसादतः ॥८॥

॥ इति श्री नारद पुराणे संकष्टनाशनं नाम श्री गणपति स्तोत्रं संपूर्णम् ॥

इसे भी पढ़े : समस्त कष्टों से मुक्ति के लिए ॐ कृष्णाय वासुदेवाय मंत्र

Disclaimer : Bhakti Bharat Ki / भक्ति भारत की (https://bhaktibharatki.com/) किसी की आस्था को ठेस पहुंचना नहीं चाहता। ऊपर पोस्ट में दिए गए उपाय, रचना और जानकारी को भिन्न – भिन्न लोगों की मान्यता और जानकारियों के अनुसार, और इंटरनेट पर मौजूदा जानकारियों को ध्यान पूर्वक पढ़कर, और शोधन कर लिखा गया है। यहां यह बताना जरूरी है कि (https://bhaktibharatki.com/) किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करता। ओम गन गणपतए नमो नमः (Om Gan Ganpataye Namo Namah) मंत्र को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ, ज्योतिष अथवा पंड़ित की सलाह अवश्य लें। मंत्र का उच्चारण करना या ना करना आपके विवेक पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़े : ओम का अर्थ, उत्पत्ति, महत्व, उच्चारण, जप करने का तरीका और चमत्कार

हमारे बारें में : आपको Bhakti Bharat Ki पर हार्दिक अभिनन्दन। दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर आपको हर दिन भक्ति का वीडियो और लेख मिलेगी, जो आपके जीवन में अदुतीय बदलाव लाएगी। आप इस चैनल के माध्यम से ईश्वर के उपासना करना (जैसे कि पूजा, प्रार्थना, भजन), भगवान के प्रति भक्ति करना (जैसे कि ध्यान), गुरु के चरणों में शरण लेना (जैसे कि शरणागति), अच्छे काम करना, दूसरों की मदद करना, और अपने स्वभाव को सुधारकर, आत्मा को ऊंचाईयों तक पहुंचाना ए सब सिख सकते हैं। भक्ति भारत की एक आध्यात्मिक वेबसाइट, जिसको देखकर आप अपने मन को शुद्ध करके, अध्यात्मिक उन्नति के साथ, जीवन में शांति, समृद्धि, और संतुष्टि की भावना को प्राप्त कर सकते। आप इन सभी लेख से ईश्वर की दिव्य अनुभूति पा सकते हैं। तो बने रहिये हमारे साथ:

इसे भी पढ़े : सांस लेने और छोड़ने की क्रिया से मन स्थिर हो जाता है

बैकलिंक : यदि आप ब्लॉगर हैं, अपनी वेबसाइट के लिए डू-फॉलों लिंक की तलाश में हैं, तो एक बार संपर्क जरूर करें। हमारा वाट्सएप नंबर हैं 9438098189.

इसे भी पढ़े : Om Shree Ganeshaya Namah

विनम्र निवेदन : यदि कोई त्रुटि हो तो आप हमें यहाँ क्लिक करके E-mail (ई मेल) के माध्यम से भी सम्पर्क कर सकते हैं। धन्यवाद।

सोशल मीडिया : यदि आप भक्ति विषयों के बारे में प्रतिदिन कुछ ना कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको Bhakti Bharat Ki संस्था के विभिन्न सोशल मीडिया खातों से जुड़ना चाहिए। इस ज्ञानवर्धक वेबसाइट को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। उनके लिंक हैं:

Facebook
Instagram
YouTube

कुछ और महत्वपूर्ण लेख:

Hari Sharanam
नित्य स्तुति और प्रार्थना
Om Damodaraya Vidmahe
Rog Nashak Bishnu Mantra
Ram Gayatri Mantra
Dayamaya Guru Karunamaya

Related posts

हरि हराये नम लिरिक्स | Hari Haraye Namah Lyrics in English – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24

Tume Anubhabara Thakura Lyrics in Odia – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24

Jibanara Sesa Bandhu Prabhu Jagannatha Lyrics in Odia – Bhakti Bharat Ki

bbkbbsr24